फिरौती मिलते ही अपराधी रेत देते आरिफ का गला, SSP मनु महाराज ने बचा ली जान

07_02_2018-manu_maharj

PATNA : पटना से अगवा हुए नौवीं कक्षा के छात्र को पुलिस ने गर्दनीबाग इलाके से बरामद कर लिया है। छात्र को छोड़ने के एवज में डेढ़ करोड़ रुपये की फिरौती मांगी गई थी। पुलिस ने इस मामले में 5 अपहरणकर्ताओं को भी गिरफ्तार किया है,जबकि दो अभी भी फरार हैं। आरिफ जैद को एक घर में जंजीर में बांध कर रखा गया था। रेस्क्यू टीम ने उसे जंजीर से अलग किया। वो काफी डरा हुआ था।
फिरौती मिलने के बाद छात्र की गला रेतने की थी प्लानिंग:  
अपराधियों ने पूरी प्लानिंग की थी। डेढ़ करोड़ की फिरौती मिलते ही अपराधी जैद को बेरहमी से मार डालते। उसका गला रेतने की तैयारी थी। इसके लिए अपराधियों ने आरी भी खरीदी थी। पटना पुलिस की विशेष टीम ने आरी बरामद की है। अपराधियों ने खुलासा किया है कि छात्र उन्हें पहचान गया था। लिहाजा वे कुछ भी कर सकते थे।
शशि ने रचि थी अपहरण की साजिशः 
अपहरण कर फिरौती मांगने के की पूरी योजना मास्टरमाइंड शशि ने बनायी थी। पुलिस को भनक नहीं लगे इसके लिए उसने भीखाचक नहीं बल्कि स्टेशन के समीप जाकर फिरौती के लिये फोन किया था। ऐसा इसलिये ताकि सही टावर लोकेशन न मिल सके। वहीं पुलिस से बचने के लिये उसने नए मोबाइल और नए सिम का इस्तेमाल किया था। सन्नी ने शशि को 20 दिनों पहले फर्जी सिम दिलवायी थी।
लाइनर को मिलता 20 प्रतिशत हिस्सा: 
लाइनर का काम करने वाले वकार को फिरौती की राशि मिलने के बाद 20 प्रतिशत हिस्सा मिलता। शशि ने इसी शर्त पर उसे लाइनर का काम सौंपा था। वकार आरिफ का पड़ोसी था।
लाइसेंसी रिवाल्वर देख चौंक गयी पुलिस: 
अपहरणकांड के मास्टरमाइंड के पास लाइसेंसी रिवाल्वर देखकर पुलिस के होश फाख्ता हो गये। एक साल पहले ही उसने पटना से लाइसेंसी रिवाल्वर ली थी।

About The Author

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.