बिहार के छोटे से कसबे में जन्मे शिक्षक अजीत सिंह की शिक्षा क्षेत्र में अनोखी पहल

WhatsApp Image 2018-11-07 at 2.10.22 PM

 

“एक अच्छा शिक्षक वही होता है, जो अपने शिष्य को शिक्षा के श्रुंगार से सजाए”

 

उपरोक्त उक्ति बिहार के एक छोटे से कसबे के श्री अजीत कुमार सिंह पर बराबर बैठती है। अजीत कुमार सिंह, जो बक्सर के ग्रामीण परिवार से है और कंप्यूटर विज्ञान के प्रख्यात शिक्षक हैं। अजीत सिंह जी बीस वर्षों से पटना के विश्व विद्यालय के अग्रणी महाविद्यालयों में अपनी नोंधपात्र सेवा प्रदान कर रहे है।

 

अजीत सिंह ने शिक्षा के क्षेत्र में ऐसा कर दिखाया है जैसा आज तक देश के किसी भी शिक्षक ने नहीं किया है. उन्होंने अपने 20 वर्षो के कार्यकल के अनुभव और रिसर्च द्वारा और खुद ग्रामीण परिवार से होने के कारण वे दुसरे ग्राम्य बच्चों की मनोस्थिति, उनकी ग्रहण शक्ति एवं आर्थिक परीबल का अनुमान अच्छे से लगा सके. जिसमे उन्होंने जाना की जो छात्र ग्रामीण क्षेत्र व परिवार से आते हैं उन्हें काफ़ी दिक्कतों से गुज़रना पड़ता है। महंगी किताबे, हार्ड भाषा व लिपि में छपी पुस्तकों को गावं के बच्चे आसानी से नहीं समज पाते. उपरांत विदेशी लेखकों द्वारा लिखी हुई क़िताबे ज्यादा महंगी होने से वे खरीद भी नहीं सकते एवं कठिन अंग्रेजी भाषा को समझने में उन्हें काफी परेशानी रहती है।

 

इसी विचार पर काम करते हुए श्री अजीत सिंह ने ख़ुद आसान और सरल भाषा में क़िताबे लिखने का निश्चय किया है। एवं किताबों के दाम भी ग़रीब बच्चो को ध्यान में रखते हुए सस्ते दाम में उपलब्ध कराने का सोचा। उन्होंने ऐसी कंप्यूटर की क़िताबे लिखी है जो बाजार में बिक रही अन्य पुस्तकों की तुलना में आसान भाषा में वर्णित की गई है तथा पुस्तकों की कीमत भी बिल्कुल कम रखी गई है ताकि गरीब विद्यार्थी भी उन्हें खरीद सकें और पढ़ सके।

 

उनके द्वारा लिखी गई पुस्तकें Parallel Computing- simply in depth, Core Java- simply in depth के आलावा अन्य 12 क़िताबे है जो Amazon के द्वारा प्रकाशित की गई है। Google play store पर भी उनकी 4 किताबें तथा खुले बाजार में एक किताब उपलब्ध है जो C++ से संबंधित है। उपरांत अजीत सिंह ने कहा है की वे भारत के विभिन्न विद्यालयों के Syllabus को ध्यान में रखते हुए कंप्यूटर की किताबों की पूरी श्रृंखला को उपलब्ध करवायेंगे जो कम से कम दाम में छात्र खरीद पायेंगे।

 

शिक्षा के क्षेत्र में अजीत सिंह का इस तरहा का निर्लोभ ज़ुकाव और उनके अभूतपूर्व योगदान को देखते हुए इस साल उन्हें शिक्षक दिवस पर बिहार सरकार के शिक्षा मंत्री द्वारा Best Teacher के अवार्ड से सम्मानित किया गया है। लोग आशा करते है की अजीत सिंह जैसी सोच और शिक्षा के क्षेत्र में ग़रीब व माध्यम वर्गीय छात्रों के लिए कुछ अनोखा करे जिससे बच्चो की शिक्षा आसान हो पाए और वे अपने करियर में ऊंचाईयों की उड़ान भर सके।

About The Author

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.